हमको सिला वफ़ाओं का अच्छा नहीं मिला
हमने जिसे भी टूट के चाहा, नहीं मिला

ताकतवरों के साथ सभी लोग हो लिए
कमज़ोर आदमी को सहारा नहीं मिला

सत्ता के हिप्नोटिज़्म की सब हैं गिरफ़्त में
उनका फ़रेब तोड़ने वाला नहीं मिला

महंगाई बढ़ रही है दिनोंदिन बुरी तरह
लेकिन किसी भी न्यूज़ में लिक्खा नहीं मिला

मुफ़लिस को राष्ट्रवाद का प्रवचन पिलाइए
किसकी मज़ाल कह दे कि खाना नहीं मिला

इक बेगुनाह भीड़ के हत्थे चढ़ा कि उफ़!
उसको सिवाय मरने के रस्ता नहीं मिला

पानी ही मर गया है नज़र का इसीलिए
दरिया दिलों के बीच से बहता नहीं मिला

हालत बुरी है अर्थ व्यवस्था की इस क़दर
जिनका छिना था काम, दुबारा नहीं मिला

बच्चों के सर पे इतनी उमीदों का बोझ है
जितना कि उनको पीठ पे बस्ता नहीं मिला

सस्ते में अपनी शर्मो हया हमने बेच दी
ख़ुद्दारियों का दाम भी अच्छा नहीं मिला

मज़बूत नींव थी कि इमारत नहीं गिरी
हमको, ख़ुदा का शुक्र है मलबा नहीं मिला